35 करोड़ नहीं, 35 लाख ही दिलवा दीजिए, "बिकाऊओं" के खिलाफ नहीं तो बेचने वालों के खिलाफ तो बोलिए, "महाराज"

35 करोड़ नहीं, 35 लाख ही दिलवा दीजिए, "बिकाऊओं" के खिलाफ नहीं तो बेचने वालों के खिलाफ तो बोलिए, "महाराज"

मध्यप्रदेश/भोपाल - मुरैना जहरीली शराब कांड को लेकर कांग्रेस लगातार सत्ताधारी भाजपा पर हमलवार हैं। कांग्रेस के नेता इस मामलें को लेकर सीएम शिवराज को घेरे हुए है, साथ ही जमकर निशाना साध रहे हैं। इसी सिलसिले में अब कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा ने भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की चुप्पी पर सवाल उठाया हैं। साथ ही उन तंज कसा हैं। 

कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा की – महाराज, प्रजा गरीब है, विदेशी नहीं, ज़हरीली पीने को मजबूर हैं, आप “बिकाऊओं” के ख़िलाफ़ तो बोल नहीं सकते हैं, बेचने वालों की खिलाफ तो बोलिये? मंत्री बनाने के लिए 40 गाड़ियों के काफिले से CM पर दबाब, 22 मौतों पर 4 शब्द भी नहीं! इन्हें 35 Cr नहीं, 35 लाख ही सहायता दिलवा दीजिये?

वहीं, केके मिश्रा के ट्वीट पर ग्वालियर के सिंधिया समर्थक नेता दिनेश शर्मा ने कटाक्ष भी किया है और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Ex CM Kamalnath) पर पलटवार किया हैं। सिंधिया समर्थक ने इसे मौतों पर घटिया राजनीति कहा हैं। 

ये है पूरा मामला 

गौरतलब है कि मुरैना जहरीली शराब कांड में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं। शराब केस में अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि बाकी का इलाज किया जा रहा हैं। मामला बागचीनी थाना स्थित छेरा मानपुर गांव और सुमावली थाना के पहवाली गांव का हैं। कहा जा रहा है कि छेरा मानपुर गांव में जहरीली शराब से लोगों की मौत हुई हैं। वहीं, पहवाली गांव में भी कई लोग जहरीली शराब के सेवन करने से मर गए हैं, जबकि गंभीर रूप से बीमार में से लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं।