प्रदेश में कोरोना का कहर, क्या दमोह चुनावी रैलियों में नहीं है इसका असर??लोगों ने किया खुद को लॉक 

प्रदेश में कोरोना का कहर, क्या दमोह चुनावी रैलियों में नहीं है इसका असर??लोगों ने किया खुद को लॉक 

प्रदेश में कोरोना का कहर, क्या दमोह चुनावी रैलियों में नहीं है इसका असर??लोगों ने किया खुद को लॉक 

 

 मध्यप्रदेश में एक तरफ जहां कोरोना का संकट दिन-ब-दिन चरम पर पहुंचता जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ दमोह सीट जहां पर उपचुनाव होने हैं वहां पर किसी भी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं है जबकि आए दिन दमोह से कई मामले सामने आए हैं.

 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के चुनावी कार्यक्रम इस दौरान लगातार चल रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभु राम चौधरी भी दमोह चुनावी कार्यक्रम में मस्त है.

आज फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दमोह कार्यक्रम में मौजूद रहे.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से जब पूछा गया कि पूरे प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन लगाया गया, लेकिन दमोह जिले में कोरोना संक्रमण के लगातार केस बढ़ने के बावजूद भी वीकेंड लॉकडाउन क्यों नहीं लगाया। इस पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दमोह उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं है। उपचुनाव के चलते दमोह, निर्वाचन आयोग के अधिकार क्षेत्र में है, ऐसे में सरकार ने वहां लॉकडाउन नहीं लगाया है। दमोह जिले में भी कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली। स्थिति गंभीर होते देख दमोह जिले के एक कस्बे के लोगों ने खुद लॉकडाउन लगा लिया.

 दमोह के हटा ब्लॉक के लोगों ने सरकार के लॉकडाउन के आदेश ना होने पर खुद ही 2 दिन का साप्ताहिक लॉकडाउन लगा लिया. इसके साथ ही यह बात भी कही है कि अगर जरूरत पड़ी तो लॉकडाउन और बढ़ाएंगे.

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे