ताज़ा खबरेंराज्यों सेसभी खबरें

BJP MLA केपी त्रिपाठी ने जनपद पंचायत के CEO को “देख लेने” की दी थी धमकी, फिर हुआ उनपर हमला, शक की सुई विधायक पर अटकी!

रीवा : हालही में बीजेपी विधायक केपी त्रिपाठी और जनपद पंचायत के सीईओ एसके मिश्रा की बातचीत का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी के साथ वायरल हुआ। जिसमें विधायक केपी त्रिपाठी द्वारा सीईओ को देख लेने की धमकी दी गई। बताया जा रहा है कि बीते दिनों सिमरिया विधानसभा क्षेत्र में किए गए कार्यों की जानकारी लेने को लेकर दोनों के बीच फ़ोन पर चर्चा हुई थी। इसी दौरान दोनों की बातचीत में इतनी गहरी हो गई कि विधायक ने सीईओ को देख लेने की धमकी दे डाली।

इसी बीच इस मामलें में मंगलवार को उस समय चौका देने वाली खबर सामने आई जब सीईओ एसके मिश्रा के ऊपर किसी ने प्राणघातक हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि बीजेपी विधायक की बातचीत का ऑडियो जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुआ उसके चंद घंटों के भीतर ही जनपद पंचायत के सीईओ एसके मिश्रा के ऊपर प्राणघातक हमला हो गया।

मिली जानकारी के अनुसार बहस के बाद मंगलवार दोपहर को ही एस के मिश्रा सेमरिया क्षेत्र से बैठक कर मुख्यालय लौट रहे थे। तभी रास्ते में पुरवा फॉल के पास घात लगाकर बैठे आधा दर्जन बदमाशों ने वाहन रोक कर उनकी जमकर पिटाई कर दी। बदमाशों ने एस के मिश्रा को बुरी तरह पीटा और फिर मरा समझ कर कचरे के ढेर में फेंक कर भाग गए। मौके पर मौजूद ड्राइवर ने पुलिस को घटना की सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सीईओ को अस्पताल में भर्ती कराया।

वहीं, इस हमले के शक की सुई बीजेपी विधायक पर आकर अटक गई, हालांकि पुलिस ने तत्काल ही सीईओ की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध किया है। आरोपियों की खोजबीन के लिए साइबर सेल की मदद ली जा रही है। मुख्य मार्गों में लगे CCTV के फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। इधर सीईओ के ऊपर प्राणघातक हमले के बाद जनपद पंचायत सिरमौर की नवनिर्वाचित अध्यक्ष रवीना साकेत ने आरोपियों पर कार्रवाई की मांग करते हुए कहां है कि अगर आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी नहीं होती है तो वह जनपद कार्यालय सिरमौर को बंद करके अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगी।

बता दे कि विधायक ने जनपद सीईओ पर अपने आदमियों को परेशान करने का आरोप लगाया था। जिसके बाद सीईओ ने इसे नकारते हुए विधायक पर ही दलाली के आरोप लगा दिए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button