भोपाल:- कोरोना संकट के बीच हमीदिया अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों ने दी हड़ताल पर जाने की चेतावनी

भोपाल:- कोरोना संकट के बीच हमीदिया अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों ने दी हड़ताल पर जाने की चेतावनी

भोपाल:- हमीदिया अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों ने दी हड़ताल पर जाने की चेतावनी 

भोपाल: प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर तेज़ी से फैल रही है, राजधानी भोपाल में तो कोरोना दिन पर दिन बेकाबू होता जा रहा है यहां पर प्रतिदिन करीब साढ़े पांच सौ से ज्यादा मरीज़ मिल रहे हैं। संपूर्ण प्रदेश में से सबसे ज्यादा संक्रमित यही पर मिल रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ राजधानी के  कुछ अस्पतालों में जैसे कि हमीदिया, जेपी, एम्स आदि में तो बेड फुल हो गए हैं, यहां पर गंभीर मरीजों को भी जगह नहीं मिल पा रही है 

दरअसल शहर में एक्टिव केस का आंकड़ा तकरीबन साढ़े चार हजार तक पहुंच गया है एक्टिव केस ज्यादा संख्या में मिल रहे है इसी कारण अस्पतालों में बेड की कमी पड़ रही है। इसी बीच गांधी मेडिकल कॉलेज से संबद्ध हमीदिया अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों ने आठ अप्रैल को हड़ताल पर चले जाने की चेतावनी दे दी है आपको बता दे जूनियर डॉक्टर पढ़ाई के साथ साथ मरीजों का इलाज भी करते है जिससे उनकी पढ़ाई पर भी असर पड़ता है उनका कहना है इसके बाबजूद उनकी न तो फीस माफ हुई और न सरकार के किसी भी वायदे का फायदा मिला है। उनकी सरकार से कुछ मांगे है इसलिए उन्होंने हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।

ये मांगें इस प्रकार है

  •  हमीदिया में केवल गंभीर कोरोना मरीजों को ही भर्ती किया जाएं,
  • सरकार की ओर से छः फीसदी सालाना मानदेय बढ़ाया जाए,
  • कोरोना के दौरान प्रति महीने दस हजार रूपए मानदेय देने का वायदा सरकार पूरा करे,
  • जूनियर डॉक्टरों से ग्रामीण सेवा न ली जाए।