दिशा रवि केस पर शाह का सवाल: क्या जेंडर, ऐज, प्रोफेशन, पूछ कर गुनाह तय होगा?

दिशा रवि केस पर शाह का सवाल: क्या जेंडर, ऐज, प्रोफेशन, पूछ कर गुनाह तय होगा?

          दिशा रवि केस पर शाह का सवाल: क्या जेंडर, ऐज, प्रोफेशन, पूछ कर गुनाह तय होगा?  

नई दिल्ली/राजेश्वरी शर्मा:   किसान आंदोलन को भड़काने के मामले में दिशा रवि इस वक़्त काफी चर्चा में है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि  किसान आंदोलन को भड़काने के लिए दिशा रवि ने  यह टूलकिट का निर्माण किया है। 
दिशा रवि के कई समर्थको ने अपने अपने विचार साझा किए है। जिसमें कई किसान नेता, दिग्गज कांग्रेस नेताओ ने कहा कि 21 वर्ष की लड़की के ऊपर ऐसे गंभीर आरोप लगाए जा रहे है। दिशा रवि की गिरफ्तारी पर लोग कई सवाल कर रहे है.

ऐसे बयानों का अमित शाह ने जमकर विरोध किया। अमित शाह ने कहा कि "क्या जेंडर, ऐज, प्रोफेशन पूछकर गुनाह तय होगा?"
इससे पहले भी 21-22 साल के युवाओं को गिरफ्तार किया गया है।
दिशा रवि की गिरफ्तारी पर देश में कई लोग सवाल उठा रहे हैं। 
इस विषय पर केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति क्राइम करता है तो क्या उससे उसकी उम्र पूछनी चाहिए? क्या उससे उसका प्रोफेशन पूछना चाहिए? वह किससे जुड़ा है यह पूछना चाहिए, या फिर गुनाह किया है या नहीं किया है उसके आधार पर तय होगा। 
अब क्या जेंडर, प्रोफेशन और उम्र के आधार पर तय होगा कि एफआईआर होगी या नहीं?
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने यह भी कहा कि इस देश में अदालत है या नहीं?  अगर गलत एफआईआर है तो आप उसे खारिज कराने के लिए अदालत जा सकते हैं.....

शाह ने कहा कि आईपीएस अधिकारियों को पेशेवर तरीके से अपना काम करने दिया जाना चाहिए। हमें उनकी जांच पर पूरा भरोसा है क्योंकि वे लोग संविधान के तहत काम कर रहे हैं। 
शाह ने यह भी कहा कि हो सकता है कि असेसमेंट में गलती हो, मुझे मालूम नहीं है। हालांकि गलती होने की संभावना कम है, क्योंकि यह संवेदनशील मामला है लेकिन इसके खिलाफ अदालत तो खुली है।