मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट को मतदान से पहले देना होगा इस्तीफा, अटकलें तेज़

मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट को मतदान से पहले देना होगा इस्तीफा, अटकलें तेज़

भोपाल से खाईद जौहर की रिपोर्ट - मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में होने वाले उपचुनाव (By Election) से पहले शिवराज कैबिनेट (Shivraj Cabinet) के दो मंत्रियों एवं सिंधिया के खास समर्थक तुलसी सिलावट (Tulsi Silawat) और मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Govind Singh Rajput) को अपने पद से इस्तीफा (Resignation) देना होगा। बता दे कि प्रदेश की 28 सीटों पर 3 नवंबर को मतदान होना है, उस से पहले इन दोनों मंत्रियों को इस्तीफा देना होगा। 

दरअसल, अब इनके मंत्री पद में बने रहने में संवैधानिक (Constitutional) पेंच आड़े आ रहा हैं। 21 अक्टबर को इनके 6 महीने पूरे हो रहे हैं। लेकिन संवैधानिकबाध्यता के चलते वे विधायक (MLA) बने बिना छह माह से अधिक समय तक मंत्री नहीं रह सकते। 

वहीं, दोनों ही नेता को भाजपा ने अपना-अपना उम्मीदवार घोषित किया हैं।

कहां से लड़ेंगे चुनाव

गोविंद सिंह राजपूत, सागर जिले की सुरखी विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार हैं तो तुलसी सिलावट, इंदौर जिले की सांवेर विधानसभा सीट से उम्मीदवार हैं।

संवैधानिकबाध्यता के अनुसार व्यक्ति तभी मंत्री बन सकता है जब चुनाव जीतकर आए। बता दें कि प्रदेश में आचार संहिता भी लगी है जिस कारण से ये दोनों नेता चुनाव परिणाम आने तक मंत्री पद की शपथ दोबारा नहीं ले सकते हैं।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh) ने 21 अप्रैल को अपनी टीम में पांच मंत्रियों को शामिल किया था। जिसमें तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत शामिल थे।