मध्यप्रदेश : मंत्री मंडल विस्तार की सरगर्मिया हुई तेज

मध्यप्रदेश : मंत्री मंडल विस्तार की सरगर्मिया हुई तेज

मध्यप्रदेश : मंत्री मंडल विस्तार की सरगर्मिया हुई तेज
सिंधिया चाह रहे दो और मंत्री, इमरती और गिर्राज को दिलाना चाहते हैं निगम मंडल में जगह

भोपाल/(राजकमल पांडे) 15 माह सत्ता से दूर रह कर जो बेचैनी शिवराज की बढ़ी थी, वह मध्यप्रदेश विधानसभा उपचुनाव में देखने को तो मिला ही साथ ही कमलनाथ की वापसी को रोकने हेतु शिवराज ने अपना पूरा राजनीतिक अनुभव भी झोंक दिया। अब जब भाजपा मध्यप्रदेश में जीत हासिल कर लिए हैं, और मंत्री मंडल विस्तार होना है तो सिंधिया ने अपने तीन कट्टर समर्थक इमरती देवी, गिर्राज दंतोडिया और एंदल सिंह कसाना को निगम मंडल मे जगह दिए जाने की बात रखी है। इमरती देवी के पद से इस्तीफा देने के बाद ग्वालियर चंबल संभाग से दलित वर्ग का कोई मंत्री नही रह गया है। 

मंथन का शिवराज
लंबे समब बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने शनिवार को 2 घंटे बहूप्रतीक्षित कैबिनेट विस्तार व प्रषासनिक फेरबदल के संबंध में विमर्ष किया। साथ ही मुख्यमंत्री ने शुक्रवार की रात संघ के वरिष्ठ नेताओं से बातचीत की थी, जबकि शनिवार सुबह मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस व डीजीपी विवेक जौहरी से बात की इससे इस बात की संभावना बढ़ गई है कि कैबिनेट विस्तार के साथ ही बहु प्रतिक्षित प्रशासनिक फेरबदल भी जल्द हो सकता है।

हाईकमान कर सकते हैं फेसला
ऐसा चर्चा का विषय बना हुआ है कि मंत्रीमंडल विस्तार को लेकर भोपाल में सहमति कहीं असहमतियों में तब्दील न हो जाए इसलिए हाईकमान फेसला कर सकते हैं। निगम मंडलों में नियुक्तियों को लेकर भी चर्चा शुरू तो हो गई है, अपितु इमरती देवी, एंदल सिंह कंसाना और गिर्राज दंडोतिया के अलावा कुछ अन्य नेताओं को भी सूची में शामिल किया जा सकता है, व कुछ विधायकों को जिला सहकारी बैंको की जिम्मेदारी भी सौंपी जा सकती है।

संजय पाठक व गौरीशंकर बिसेन दौड में
मुख्यमंत्री शिव्रराज सिंह चौहान, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन मंत्री सुभाष भगत का मानना यह है कि 2023 के मद्देनजर मंत्री मंडल का विस्तार किया जाए और ध्यान में यह भी रखा जाए कि पार्टी के वरिष्ठ लोगों क्षेत्रीय जाति संतुलन के हिसाब से मंत्रिमंडल में मौका दिया जाए। जिसमें राजेन्द्र शुक्ला, अजय विश्नोइ, रामपाल सिंह, संजय पाठक, गौरीशंंंकरर बिसेन का नाम है।