मध्यप्रदेश/ iifa एक बार फिर विवादों में, भाजपा ने काले झंडों को लेकर किया विरोध

मध्यप्रदेश/ iifa एक बार फिर विवादों में, भाजपा ने काले झंडों को लेकर किया विरोध

 

 iifa विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।
 मध्य प्रदेश में आयोजित होने जा रहे आईफा अवॉर्ड
 समारोह (IIFA 2020) को लेकर एक नया विवाद खड़ा
 हो गया है। बीजेपी ने आईफा अवॉर्ड को लेकर लगाए गए झंडों
 के रंग को लेकर सवाल खड़े किए हैं।  

भोपाल: बीजेपी ने आरोप लगाया है कि काले रंग के जो झंडे सड़कों के किनारे लगाए गए हैं, वो मनहूसियत और विरोध के प्रतीक हैं, इसलिए इन्हें हटाकर नए रंग के ध्वज लगाए जाएं। दरअसल राजधानी भोपाल में iifa अवार्ड को लेकर वीआईपी रोड पर बड़े तालाब पर बने ब्रिज के दोनों ओर काले झंडे (Flags) लगाए गए हैं। जो दूर तक चमकते हुए दिखाई देते हैं। बीजेपी ने इसी झंडे के रंग को लेकर विरोध जताया है। बीजेपी ने मांग की है कि झंडों का रंग बदलकर इन्हें रंग बिरंगा किया जाए।

अभी तक विवादों में रहा है आईफा

जैसे ही आईफा आयोजन का ऐलान किया गया था उसी समय से इस पर सियासत का खेल भी शुरू हो गया। बीजेपी के नेता, सरकार पर फिजूलखर्ची के आरोप लगाकर लगातार निशाना बना रहे हैं। जबकि सरकार ने तर्क दिया है कि आईफा के आयोजन से न केवल मध्य प्रदेश की ब्रांडिंग होगी बल्कि इससे मध्य प्रदेश के पक्ष में निवेश का माहौल भी बनेगा। सीएम कमलनाथ खुद ये कह चुके हैं कि आईफा का आयोजन मध्य प्रदेश में होना एक बड़ी उपलब्धि है