MP के 18 जिलाें में लाॅकडाउन, भोपाल में क्यों नहीं?? कलेक्टर ने दिया बड़ा बयान 

MP के 18 जिलाें में लाॅकडाउन, भोपाल में क्यों नहीं?? कलेक्टर ने दिया बड़ा बयान 

मध्यप्रदेश/भोपाल - मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए शिवराज सरकार अब तक करीब 18 जिलाें में लाॅकडाउन लगा चुकी हैं। या यूह कहे की कोरोना कर्फ्यू। मुख्यमंत्री शिवराज ने यह फैसला इन जिलाें के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से चर्चा के बाद लिया। उन्हाेंने कहा- प्रदेशव्यापी लाॅकडाउन नहीं लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन लगाना ही सिर्फ समाधान नहीं हैं। शहरों में लॉकडाउन नहीं, बल्कि कोरोना कर्फ्यू लगाया गया हैं। इसमें कई तरह की छूट दी गई हैं। मुख्यमंत्री यह बात स्मार्ट सिटी में पौधरोपण के बाद कही।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उद्योग चलते रहेंगे. टीकाकरण पूरी ताकत से चलेगा। IT-BPO अपना-अपना काम करते रहेंगे। आर्थिक गतिविधि चालू रहना चाहिए। लेकिन, जनता को खुद फैसला करना होगा कि वह घर से बाहर न निकले। मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण से लड़ाई जनता की मदद के बिना नहीं जीती जा सकती।

लेकिन इन सबके बीच एक सवाल ये उठ रहा है कि भोपाल में लॉकडाउन क्यों नहीं लगाया जा रहा? दरअसल, भाेपाल में करीब 3 हजार एक्टिव केस हैं और हर दिन औसतन 650 नए केस मिल रहे हैं। फिर भी प्रशासन यहां लाॅकडाउन नहीं बढ़ा रहा? जिसको लेकर भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने मीडिया से चर्चा करते हुए कुछ सवालों के जवाब दिए। 

  • सवाल : भोपाल में लॉकडाउन क्यों नहीं? 
  • जवाब - बेड और ऑक्सीजन पर्याप्त, बाकी व्यवस्थाएं भी सुधार रहे, जरूरत पड़ेगी तो सोचेंगे। 
  • क्या कारण है कि लॉकडाउन नहीं लगा रहे?
  • लॉकडाउन की वजह से आर्थिक गतिविधियां बहुत ज्यादा प्रभावित होती हैं। बिना लॉकडाउन के स्थिति सुधर जाए तो बेहतर होगा। कोलार बंद किया ही हुआ हैं। 
  • संक्रमित तो सब जगह बढ़ रहे हैं?
  • हां, पर और भी विकल्प हैं, जिससे स्थिति नियंत्रित करने के प्रयास कर रहे हैं।

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे