जामिया और AMU छात्रों का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट,मंगलवार कोर्ट में सुनवाई

जामिया और AMU छात्रों का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट,मंगलवार कोर्ट में सुनवाई

जामिया और AMU छात्रों का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट,मंगलवार कोर्ट में सुनवाई

नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों के साथ हुई हिंसा का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है और इस मामले की सुनवाई मंगलवार को होगी.जहां पुलिस प्रशासन ने छात्रों के साथ बदसलूकी के साथ-साथ लाठियां भी बरसाई जिसमें कई बच्चों अस्पताल में भर्ती है और एक पुलिसकर्मी भी अस्पताल में है बता दें कि वकील इंदिरा जयसिंह इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दी है. उनकी अर्जी को संज्ञान में लेते हुए प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे ने कहा है कि वह चाहते हैं कि हिंसा रुके. वकील इंदिरा जयसिंह ने कहा कि सैकड़ों छात्रों के साथ हिंसा है. इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'सुप्रीम कोर्ट के वकील आज सुबह 9:45 बजे कोर्ट नंबर-1 के बाहर इकट्ठा होंगे और उन छात्रों के बचाव में आगे की क़ानूनी प्रक्रिया तय करेंगे, जिनकी ज़िंदगी और आज़ादी को पुलिस ने ख़तरे में डाल दिया'.

लाइब्रेरी में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं पर भी पुलिस ने लाठियां बरसाईं. नौ छात्र अब भी अस्पताल में हैं, जिनमें तीन आईसीयू में हैं. एक पुलिसकर्मी भी आईसीयू में है. कैंपस के अंदर पुलिसिया कार्रवाई से छात्र दहशत में हैं