जबलपुर : न्यू मुनीश मेडिकोज में 18 हज़ार में बेचा जा रहा था रेमडेसिविर इंजेक्शन, प्रशासन ने दुकान को किया सील

जबलपुर : न्यू मुनीश मेडिकोज में 18 हज़ार में बेचा जा रहा था रेमडेसिविर इंजेक्शन, प्रशासन ने दुकान को किया सील

मध्यप्रदेश/जबलपुर - मध्यप्रदेश के लगभग सभी जिलों में कोरोना बेकाबू होता जा रहा हैं। पुरे प्रदेश से आए दिन रिकॉर्ड तोड़ मामले सामने आ रहे हैं। हालात ये है कि अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की किल्लत तो शुरू हो गई हैं। इसके साथ ही जीवन रक्षक माने जा रहे रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए भी हाहाकार मचा हुआ हैं। 

हालात ये है कि एक इंजेक्शन के लिए लोग सुबह से ही लाइन में लग रहे हैं। लोग अपने किसी ना किसी रिश्तेदार को महामारी से बचाने के लिए घंटों धूप में तप रहा हैं। भीड़ इतनी कि धक्का-मुक्की की स्थिति बन रही हैं। बावजूद इसके इंजेक्शन नहीं मिल रहे हैं।

कई मेडिकल दुकानों पर लिखा है 'रेमडेसिविर इंजेक्शन का स्टाॅक नहीं है, अस्पताल में संपर्क करें।

 

 

इसी बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर बड़ा मामला जबलपुर जिले से समाने आया है, जहां इस इंजेक्शन की काला बाज़ारी की जा रहीं थी। बताया जा रहा है कि न्यू मुनीश मेडिकोज द्वारा रेमेडिसविर इंजेक्शन की 18000 रु. में बेचा जा रहा था।

 

 

जिसकी जानकारी लगते ही जबलपुर जिला प्रशासन ने न्यू मुनीश मेडिकोज का पंचनाम कर दूकान को सील कर दिया गया हैं। 

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे