कोरोना वैक्सीनेशन में बड़ा बदलाव, ये है कारण, सीएम शिवराज ने दिए ये निर्देश

कोरोना वैक्सीनेशन में बड़ा बदलाव, ये है कारण, सीएम शिवराज ने दिए ये निर्देश

भोपाल से खाईद जौहर की रिपोर्ट - कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर शिवराज सरकार ने पूरी तैयारी कर ली हैं। प्रदेश में कोरोना का टीका 16 जनवरी से सुबह 9 बजे से लगना शुरू होगा। सबसे पहले ये टीका फ्रंट लाइन वर्कर्स, सफाईकर्मियों, पुलिसकर्मियों और राजस्व अमले को लगाया जाएगा। आज सीएम शिवराज ने नेशनल हेल्थ मिशन के अफसरों के साथ बैठक ली। उन्होंने वैक्सीनेशन को लेकर कलेक्टरों को भी निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि सरकार ने वैक्सीनेशन के लिए प्राथमिकताएं तय की हैं। लोगों को वैक्सीनेशन सरकार द्वारा तय चरणों के हिसाब से ही लगाई जाएगी।  
इस दौरान शिवराज सिंह ने समाजसेवियों, जनप्रतिनिधियों और मीडिया कर्मियों से वैक्सीनेशन अभियान को सफल बनाने की अपील की। उन्होंने धर्मगुरु और सामाजिक संस्थाओं से भी सहयोग की अपील की। 

मुख्यमंत्री ने लोगों से वैक्सीनेशन को लेकर भ्रम न फैलाने की अपील भी की। 

इस से पहले बुधवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने भोपाल आयी कोरोना वैक्सीन के स्टोरेज और ट्रान्सपोर्ट प्रक्रिया का निरीक्षण किया।  वो किलोल पार्क स्थित स्टेट वैक्सीन स्टोर पहुंचे। वहां, उन्होंने प्रक्रिया के सुचारू व्यवस्था का आकलन किया।

सारंग ने बताया कि भोपाल में 94 हजार वैक्सीन आई हैं। जिसे संभाग के 8 जिले भोपाल, बैतूल, हरदा, होशंगाबाद, रायसेन, राजगढ़, सीहोर और विदिशा भेजा जा रहा हैं। गुरूवार को ग्वालियर को वैक्सीन उपलब्ध होगी। प्रथम चरण में लगभग 5 लाख 6 हजार से अधिक वैक्सीन प्राप्त हो रही हैं। उन्होंने बताया कि वैक्सीन स्टोरेज से लेकर री-डिस्टिब्यूशन तक सारी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद हैं।

इधर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि अब केवल 12 केन्द्रों पर ही टीकाकरण होगा। बदलाव होने का सबसे बड़ा कारण कोविन एप सॉफ्टवेयर को बताया जा रहा हैं। वहीं, कुछ बूथ सेंटरों की संख्या बढने और स्टाफ की ट्रेनिंग अधूरी होने को भी बड़ा कारण बताया जा रहा है। 

बता दे कि पहले जहां चार दिन में पहला चरण पूरा करना तय किया गया था। वहीं अब नए कार्यक्रम के अनुसार सप्ताह में चार दिन सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शनिवार को टीका लगाया जाएगा।