भोपाल : इन मांगों को लेकर अड़े भेल कर्मचारी, बीते 5 दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी

भोपाल : इन मांगों को लेकर अड़े भेल कर्मचारी, बीते 5 दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी

भोपाल : मध्यप्रदेश में लगभग हर वर्ग के कर्मचारी-अधिकारी अपनी अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी सिलसिले में अपनी मांगों को लेकर भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) भोपाल में पांच दिन से कर्मचारियों का विरोध प्रदर्शन जारी है। बताया जा रहा है कि धरना प्रदर्शन को दिन प्रतिदिन कर्मचारियों का सहयोग मिलता जा रहा है। पिछले 5 दिनों से जारी प्रदर्शन के लिए अब अधिक संख्या में कर्मचारी शामिल हो रहे हैं। 

दरअसल, ऑल इंडिया भेल एम्प्लाईज यूनियन पीपी बोनस, एसआईपी बोनस, इंसेंटिव, टी-3, नाईट अलाउंस, 1 करोड़ के टर्म इन्सुरेंस और बंद पड़ी कैंटीन को चालू करवाने की मांग पर अड़े हुए हैं। कर्मचारियों का कहना है कि जब तक मांगों को नहीं माना जाता विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। 

यूनियन के मीडिया प्रभारी आशीष सोनी ने बताया कि कर्मचारी अपना हक मांग रहे है, अगर मांगे नहीं मानी जाती हैं, तो विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। हालांकि मैनेजमेंट ने कर्मचारियों को मांगें पूरा किए जाने का आश्वासन दिया है, लेकिन कर्मचारी मांग पूरी नहीं होने तक विरोध प्रदर्शन जारी रखने पर अड़े हुए हैं।
ख़ास बात ये है कि ड्यूटी के बाद कर्मचारी बैनर पोस्टर लेकर सड़क पर निकल पड़ते हैं। 

आशीष सोनी ने आगे बताया कि कोरोना का हवाला देते हुए कर्मचारियों का बोनस और अन्य सुविधाओं को रोका गया। इसके बाद अफसरों के सभी तरह के बोनस और सुविधाएं द्वारा दी जाने लगी, लेकिन करीब 3 हजार कर्मचारियों को इससे दूर रखा गया। कोरोना के कारण कैंटीन का खाना 3 रुपए से बढ़ाकर 14 रुपए कर दिया। नाश्ता और चाय आदि के रेट भी बढ़ा दिए, लेकिन इसे और बढ़ाए जाने की बात कहते हुए अधिकारियों ने इसे बंद कर दिया।