पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर, हिंसा के खिलाफ आज बीजेपी करेगी प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर, हिंसा के खिलाफ आज बीजेपी करेगी प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर, हिंसा के खिलाफ आज बीजेपी करेगी प्रदर्शन

 

पश्चिम बंगाल:- 2 मई को पश्चिम बंगाल के चुनाव का परिणाम घोषित हुआ जिसमें तृणमूल कांग्रेस को भारी वोटों से जीत मिली. जिसके बाद अब बंगाल में आगजनी का माहौल फैल गया है.

पिछले दो दिनों में लगातार बंगाल में खूनी खेल देखने को मिला है. चुनाव नतीजों के बाद से कई लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया है और कई घायल हो गए. कई लोगों के घरों में लूटपाट की गई है तो कुछ जगहों पर घरों और दुकानों को फूंक दिया गया है. मरने वाले और आगजनी के पीड़ित लोग बीजेपी के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं तो राज्य में हिंसा और आगजनी करने का आरोप तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लगे हैं. इन रक्तरंजित घटनाओं की देशभर में निंदा की जा रही है. इस बीच भारतीय जनता पार्टी बंगाल में राजनीतिक हिंसा के खिलाफ आज देशभर में धरना-प्रदर्शन करेगी.

 

 इस राजनीतिक हिंसा को देखते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुद बंगाल पहुंचे हैं.

जेपी नड्डा आज हिंसा के खिलाफ धरना प्रदर्शन भी करेंगे. जेपी नड्डा मंगलवार को दो दिवसीय दौरे पर बंगाल पहुंचे हैं, जहां वह हिंसा प्रभावित कार्यकर्ताओं और उनके परिजनों से मुलाकात कर रहे हैं. मंगलवार को जेपी नड्डा बंगाल में हिंसा के पीड़ित बीजेपी कार्यकर्ता के दक्षिणी 24-परगना आवास पर गए और उनके परिजन से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने टीएमसी पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

 

नड्डा ने कहा कि बंगाल चुनाव के परिणाम आने के बाद से जिस तरह की घटनाएं बंगाल में हो रही है, वो चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि भारत विभाजन के समय हमने ऐसी घटनाओं के बारे में सुना था. स्वतंत्र भारत में किसी भी राज्य के चुनाव नतीजों के बाद इस तरह की घटना और असहिष्णुता नहीं देखी थी. नड्डा ने बंगाल हिंसा पर कहा कि ममता बंगाली संस्कृति की नहीं, बल्कि असहिष्णुता का चेहरा हैं. उन्होंने कहा कि इस वैचारिक लड़ाई और TMC की गतिविधियों से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जो असहिष्णुता से भरी है.

 चारों तरफ आगजनी का माहौल फैला हुआ है. अगर सिर्फ पिछले 2 दिन की बात करें तो 11 लोगों की मौत की बातें सामने आई हैं. इसके अलावा लगातार मौत मारपीट हिंसा का माहौल बना हुआ है. ममता बनर्जी ने यह बात कही है कि उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को शांति बनाने की अपील की है. इसके साथ ही यह बात भी कही थी कि भाजपा के कार्यकर्ताओं ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर चुनावी कार्यक्रमों के दौरान भारी अत्याचार किये.

 भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाते हुए कहा कि टीएमसी के गुंडों को हिंसा और उत्पात के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मौन सहमति मिली हुई है उनके लोग खुलेआम हिंसा के लिए भड़का रहे हैं.

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे