सभी खबरें

भव्य राम मंदिर पर क्या बोली : उमा भारती ,दर्जनों ट्वीट से अपनी पुरानी यादें की ताज़ा

भव्य राम मंदिर पर क्या बोली : उमा भारती ,दर्जनों ट्वीट से अपनी पुरानी यादें की ताज़ा

  बड़ी बात– उमा भारती को आया राम मंदिर भूमि पूजन का न्योता

मध्यप्रदेश में इकलौती शख्सियत जिन्हें राम मंदिर जन्मभूमि भूमि पूजन को लेकर न्योता आया है
द लोकनीति डेस्क भोपाल
 अयोध्या में राम मंदिर को लेकर जोरों शोरों से तैयारी चल रही है बता दें 5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर की भूमि पूजन पर पूरे विश्व के नजरें होंगी क्योंकि यह मामला सदियों पुराना है जो अब सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद बनने जा रहा है इस बीच मध्य प्रदेश से इस कार्यक्रम में राम मंदिर आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाली बीजेपी के कद्दावर और फायरब्रांड नेता उमा भारती भी शामिल होने जा रही हैं उमा भारती 4 से 6 अगस्त तक अयोध्या में ही रहेंगी इससे पहले रविवार दोपहर को उमा भारती ने एक के बाद एक 12 ट्वीट कर डाले थे
आपको बता दें मध्यप्रदेश में इकलौती शख्सियत जिन्हें राम मंदिर जन्मभूमि भूमि पूजन को लेकर न्योता आया है और वे मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री 2003 से लेकर 2004 तक रही हैं उमा भारती भाजपा के उन दिग्गजों में मानी जाती हैं जिन्होंने राम मंदिर को लेकर लगातार भारत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला था और भी लगातार आंदोलन में बड़ी हिस्सेदार रही हैं  भारतीय राजनीति में एक दबंग और बेबाक़ बोली वाली महिला जिन्होंने भाजपा में अपनी एक अलग पहचान बनाई है

उमा ने किया ट्वीट 

 

 

 उमा ने लिखा अब मेरी जीवन काल में ही मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है जिसको लेकर मैं बहुत खुश हूं और पूरे भारत वासियों की तरफ से हमारे प्रधानमंत्री जी इसका शुभारंभ करेंगे यह वाकई गर्व और आनंद का विषय है किंतु अयोध्या अभियान में मैं स्वयं की किसी पराक्रम का उल्लेख ना करना मुझे शर्मिंदगी में डालता है क्योंकि राम मंदिर का इतिहास बहुत पुराना रहा है हालांकि 500 साल तक चले इस अभियान में लाखों लोगों की प्राणों की आहुति दी गई है जो पहले युद्ध हुए फिर हमने संघर्ष किए तब 1984 से अभियान चला रहा था तब भी मैं इस दरमियान हमारे  हजारों कारसेवक  शहीद हुए हैं कई परिवार नष्ट हो गए हैं कई जिंदगानी या अब गई उन्हीं सब का परिणाम आज हमारे सामने हैं जहां आंदोलन की गति कम नहीं हो पाई इसलिए हमें उनका यह पराक्रम याद रखना है 
हम सभी उनके सामने कहीं नहीं ठहरते हम तो जिंदा रह गए और हमारी जीवन की गति आगे चलती गई हालांकि इस अभियान के लिए लाभ या हानि को पार करके अब हम उस दिन अयोध्या में होंगे यह मेरे जीवन का एक ऐसा क्षण होगा जिसकी तुलना हजारों जिंदगानी उसे भी नहीं की जा सकती

उमा ने बताया कि विशेषज्ञों की चेतावनी के अनुसार जुलाई-अगस्त में करुणा महामारी विकराल रूप धारण करती जा रही है ऐसी स्थिति में हमें भले ही अयोध्या में ना हों किंतु सिराणा या स्थल पर कॉल लोग मौजूद होंगे यह अंतिम घड़ी तक स्पष्ट नहीं हो सकता जैसी नदियां समुद्र में समा जाती हैं वैसे ही हम सब नरेंद्र मोदी जी में समा गए हैं उनकी सैलेनिया स्थल पर उपस्थिति ही हम सबकी उपस्थिति है हम प्रार्थना करें कि प्रभु श्री राम की जय हो क्योंकि वही इस अभियान के नायक हैं हम सब यह काम ना करें कि हमारे देश में रामराज की भी शुरुआत हो जहां सबको मानव अधिकार तथा सम्मान के साथ जीने का अधिकार मिले मेरे जितने भी लोग परिचित हैं वह जहां हैं यदि मेरे स्वीट को पढ़ रहे हैं तो उन सभी से मेरी अपील है सब अपने घरों से ही इस कारण के पर में भागीदारी करें और अपने घर के बाहर राम जी के अयोध्या लौटने पर हर्षोल्लास से दीए जलाएं

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button