जुल्फिकार अली ने PM से क्या कहा होगा, "आप मेरी तरह टोपी कब पहनेंगे, जनता को टोपी मत पहनाओं"

जुल्फिकार अली ने PM से क्या कहा होगा, "आप मेरी तरह टोपी कब पहनेंगे, जनता को टोपी मत पहनाओं"

पश्चिम बंगाल : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक तस्वीर सामने आई थी। ये तारीख 3 अप्रैल की थी, जिसमे पीएम मोदी जुल्फिकार अली नामक एक व्यक्ति के कंधे पर हाथ रखाकर उनसे बातचीत कर रहे थे। इस तस्वीर के वायरल होने के बाद देशभर में इसकी चर्चा ज़ोरों पर रहीं। इतना ही नहीं ये तस्वीर आज भी देश में चर्चा का विषय बनी हुई हैं। 

इस तस्वीर के सामने आने के बाद इस बात की चर्चा शुरू हुई के जुल्फिकार अली ने पीएम मोदी के कान में क्या कहा होगा। तो आइये हम आपको बताते है की जुल्फिकार ने पीएम मोदी से क्या कहा?

जुल्फिकार कहते हैं, 'पीएम मोदी गाड़ी में आ रहे थे। सभी ने हाथ जोड़कर नमस्ते किया। मैंने उन्हें सलाम किया। पीएम मोदी ने भी उसी अंदाज में सलाम किया। फिर वह गाड़ी से उतरे। उन्होंने मेरा नाम पूछा। मैंने बताया कि मेरा नाम जुल्फिकार अली हैं। हेलिकॉप्टर की तेज आवाज की वजह से वह शायद सुन नहीं पाए। फिर वह करीब आए तो मैंने अपना नाम बताया। उन्होंने मेरे कंधे में हाथ रखा, उन्होंने मुझसे पूछा कि आप क्या बनना चाहते हैं। मैंने उनसे कहा कि मैं काउंसलर नहीं बनना चाहता, मैं विधायक नहीं बनना चाहता, मैं सांसद नहीं बनना चाहता। मैं राष्ट्रहित में काम करना चाहता हूं।'

जुल्फिकार ने कहा, 'वह बोले और आप क्या चाहते हैं। मैंने कहा कि एक फोटो अगर आपके साथ हो जाए। मैंने अपनी जेब की तरफ हाथ बढ़ाया ताकि फोन निकाल सकूं। तभी पीएम मोदी ने अपने साथ मौजूद फोटोग्राफर को इशारा किया। उन्होंने मुझसे कहा कि आप सामने देखिए, मेरी और पीएम मोदी की फोटो खींची जाने लगी। उन्होंने मुझसे कहा कि जल्द आपसे मुलाकात होगी। 

 

 

 

वहीं, दूसरी तरफ अब इस तस्वीर को लेकर सियासत का दौर भी शुरू हो गया हैं। AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस तस्वीर को लेकर तंज कसा। उन्होंने कहा कि मीडिया वाले मुझसे पूछते है कि उसने क्या कहा होगा। तो मैंने कहा की आप सुनना चाहते हैं, उसने कहा होगा मोदी जी में बांग्लादेशी नहीं हूं हम एनआरसी एनपीआर के लिए कागज नहीं दिखाएंगे। हम ट्रिपल तलाक के कानून को नहीं मानते। आप मेरी तरह टोपी कब पहनेंगे। आप जनता को टोपी मत पहनाओं। 

 AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के इस तंज पर गृहमंत्री अमित शाह ने भी उनकी चुटकी लेते हुए कहा कि वह भी किसी हिंदू के साथ तस्वीर खिंचवा ले।

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे