सभी खबरें

MP विधानसभा अध्यक्ष पद : ये दो नाम आगे, ऐसा हुआ तो इन दिग्गजों की राह हो जाएगी मुश्किल

भोपाल से खाईद जौहर की रिपोर्ट – विधानसभा अध्यक्ष पद को लेकर एक बार फिर खींचतान शुरू हो गई हैं। बता दें कि बजट सत्र के पहले ही दिन अध्यक्ष पद का चुनाव होगा। ऐसे में बार फिर इस पद को लेकर नाम सामने आने लगे हैं। वहीं, भाजपा अध्यक्ष पद के साथ ही उपाध्यक्ष पद भी अपने पास रखने जा रही हैं। 

खबरों की मानें तो विधानसभा अध्यक्ष का पद 17 साल बाद विंध्य के खाते में जाने वाला हैं।  भाजपा के वरिष्ठ विधायक गिरीश गौतम और केदारनाथ शुक्ला में से किसी एक का नाम इस पद के लिए तय हाेगा। इस से पहले विंध्य से श्रीनिवास तिवारी 24 दिसंबर 1993 से 11 दिसंबर 2003 तक मप्र के विधानसभा अध्यक्ष रहे हैं।

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत की इस मसले पर प्रारंभिक चर्चा हुई हैं। फरवरी के पहले सप्ताह में नाम पर अंतिम मुहर लगाने के लिए नेता दोबारा बैठेंगे। 

इधर, सूत्रों का कहना है कि विधानसभा अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का नाम तय करते समय मंत्रिमंडल की बची हुई सीटों को भी भरने के लिए नाम तय हो सकते हैं। इसकी पीछे बड़ी वजह यह है कि विंध्य में अध्यक्ष पद जाता है तो यहां से मंत्री पद के दावेदार राजेंद्र शुक्ला, नागेंद्र सिंह नागोद, नागेंद्र सिंह गुढ़ की राह मुश्किल हो जाएगी।

सूत्रों का कहना है कि नए स्पीकर के बारे में राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश और प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव से भी बात होगी।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button