डिएगो माराडोना की स्मृति में गोवा में बनाई जाएगी आदमकद प्रतिमा

डिएगो माराडोना की स्मृति में गोवा में बनाई जाएगी आदमकद प्रतिमा


-महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना का निधन
-फुटबाॅल खिलाड़ी और अर्जेन्टीना के राष्ट्रीय टीम के प्रबंधक रहे डिएगो आर्मैन्ड़ो माराडोना अर्जेन्टीना को व्यापक रूप से आज तक का सबसे बेहतरीन फुटबॉल खिलाड़ी माना जाता है।
- जिसके नाम से जाना जाता था फुटबाॅल वही दुनिया को अलविदा कह गए।


नई दिल्ली:- महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना की 60 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्हें कार्डिएक अरेस्ट हुआ था। अर्जेंटीना की स्थानीय मीडिया ने यह खबर जारी करते हुए बताया कि फुटबॉल के महान खिलाड़ी डिएगो माराडोना का हार्ट अटैक से निधन हो गया है। दो सप्ताह पहले ही उन्हें ब्रेन में क्लॉट की वजह से सर्जरी करवानी पड़ी थी। माराडोना ने अपने करियर की शुरुआत 16 साल की उम्र में अर्जेंटीना की जूनियर टीम के साथ की थी। इसके बाद वह दुनिया के सर्वकालिक महान फुटबॉलर में शामिल हो गए। उन्होंने अर्जेंटीना को 1986 फुटबॉल वर्ल्ड कप जितवाने में अहम भूमिका निभाई थी। उनका करियर शानदार रहा। माराडोना ने बोका जूनियर्स, नेपोली और बार्सेलोना के अलावा अन्य क्लब के लिए भी खेले हैं।

माराडोना को इंग्लैंड के खिलाफ 1986 के टूर्नामेंट में हैंड ऑफ गॉड्स  के लिए याद किया जाता है। अर्जेंटीना की स्थानीय मीडिया ने बुधवार को यह खबर दी। माराडोना के वकील ने भी जल्द ही इस खबर की पुष्टि कर दी। फुटबॉल की दुनिया में जल्द ही माराडोना को श्रद्धांजलि मिलने लगी।

माराडोना 11 नवंबर को अस्पताल से बाहर आए थे। इससे आठ दिन पहले उन्हें इमर्जेंसी ब्रेन सर्जरी के लिए भर्ती करवाया गया था। अर्जेंटीना फुटबॉल असोसिएश के प्रेजिडेंट क्लाउडियो तापिया ने भी माराडोना के निधन पर गहरा शोक जताया है।