खंडवा: अविवाहित युवती ने बच्चे को जन्म देने के बाद झाड़ियों में फेंका, नवजात की हालत नाज़ुक

खंडवा: अविवाहित युवती ने बच्चे को जन्म देने के बाद झाड़ियों में फेंका, नवजात की हालत नाज़ुक

खंडवा: खंडवा में एक अविवाहित युवती ने बीच सड़क पर नवजात को जन्म देने के बाद उसे झाड़ियों में फेंक दिया. युवती को उसके परिवार वाले गर्भपात कराने के लिए ले जा रहे थे. युवती को देख ग्रामीणवासियों को शंका हुई और वह रास्ते पर देखने निकले तो झाड़ियों से नवजात की चीखें सुनाई दीं. इसके बाद ग्रामीणों ने नवजात को उठाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया. बच्चे को कीड़े-मकोड़ें ने काट लिया था, जिससे उसकी हालत नाजुक है.
इस मामले में पुलिस ने ग्रामीणों की शिकायत पर शनिवार सुबह 3 लोगों को हिरासत में लिया है. जिनसे पूछताछ जारी है. घटना गुरुवार देर शाम की पंधाना थाना क्षेत्र के गांव घाटाखेड़ी और देवनालिया के बीच की है. अविवाहित युवती गांव देवनालियां की है. गर्भपात के लिए परिजन उसे कहीं ले जा रहे थे, तभी रास्ते में गांव घाटाखेड़ी के नजदीक सियाबाबा बाबा फाटा के यहां प्रसव पीड़ा बढ़ने पर एक टीनशेड में रुक गए. जहां प्रसव के बाद नवजात को थोड़ी दूर जाकर झाड़ियों में फेंक दिया.
इस मामले का प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि रात के 8 बजे एक बाइक सवार ने दरवाजा खटखटाया, दो लोगों के साथ एक महिला थी, उसने घर के बाहर रोड पर ही नवजात को जन्म दे दिया. थोड़ी देर में वह नवजात को छोड़कर जाने लगे. उन्हें रोककर हमने नवजात को ले जाने के लिए कहा और चेतावनी भी दी कि यदि इसे कहीं फेंका तो पुलिस को बता देंगे. वह उसे लेकर चली गई और कुछ दूर ले जाकर फेंक दिया.
राहुल जमरे ने कहा कि मुझे और पड़ोसी को शक था कि कहीं वह उसे फेंक न दें इसलिए ग्रामीणों को बुलाकर देखने पैदल निकल पड़े. थोड़ी दूर जाकर नवजात के राेने की आवाज सुनाई दी. नजदीक जाकर देखा तो नवजात के शरीर पर कीड़े-मकोड़ें चढ़ गए थे. गांव की आशा से शरीर साफ करवाया. पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने नवजात को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द किया. जहां उसे जिला अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड में भर्ती कराया.