Scotland बना दुनिया का पहला देश जहां पीरियड्स के प्रॉडक्ट्स को पूर्ण रूप से किया गया मुफ्त

Scotland बना दुनिया का पहला देश जहां पीरियड्स के प्रॉडक्ट्स को पूर्ण रूप से किया गया मुफ्त

Scotland बना दुनिया का पहला देश जहां पीरियड्स के प्रॉडक्ट्स को पूर्ण रूप से किया गया मुफ्त

राजधानी भोपाल से
शशांक तिवारी की विशेष रिपो
र्ट
स्कॉटलैंड दुनिया का पहला देश बन गया है जहां पीरियड्स के प्रॉडक्ट्स को मुफ्त कर दिया गया है। चार साल तक चले अभियान के बाद यह ऐतिहासिक फैसला लिया गया है। एक ओर जहां दुनिया के कई हिस्सों में आज भी महावारी के साथ कई भ्रांतियां और रुढ़िवादी परंपराएं जुड़ी हुई हैं, स्कॉटलैंड ने मिसाल कायम की है।
स्कॉटलैंड के प्रशासन ने मिलकर इस नए कानून को मंजूरी दी है। इस कानून के जरिए महिलाओं को पीरियड से जुड़े उत्पाद मुफ्त में दिए जाएंगे।

इस कानून के तहत स्थानीय प्रशासन को पीरियड प्रॉडक्ट्स को मुफ्त में उपलब्ध कराना होगा। इसे नॉर्थ आयरशायर जैसी काउंसिल के पहले से किए जा रहे काम पर आधारित करना होगा। यहां पहले से फ्री टैंपॉन और सैनिटरी पैड सार्वजनिक इमारतों में 2018 से दिए जा रहे हैं। विधेयक स्कॉटिश संसद सदस्य मोनिका लेनन द्वारा पेश किया गया, जो 2016 के बाद से पीरियड्स पॉवर्टी को समाप्त करने के लिए अभियान चला रही हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बीच यह कानून और अहम हो गया है। उन्होंने कहा कि पीरियड महामारी के लिए नहीं रुकते और इस वक्त पैड जैसी जरूरी चीजों की पहुंच को बेहतर किए जाने का काम और भी ज्यादा महत्वपूर्ण है।