दशहरा पास आता है तो कैलाश विजयवर्गीय रावण का रूप लेने लगते हैं, आँखें छोटी-छोटी नाक पकौड़े जैसी हैं:- सज्जन सिंह वर्मा

दशहरा पास आता है तो कैलाश विजयवर्गीय रावण का रूप लेने लगते हैं, आँखें छोटी-छोटी नाक पकौड़े जैसी हैं:- सज्जन सिंह वर्मा

दशहरा पास आता है तो कैलाश विजयवर्गीय रावण का रूप लेने लगते हैं, आँखें छोटी-छोटी नाक पकौड़े जैसी हैं:- सज्जन सिंह वर्मा

इंदौर/गरिमा श्रीवास्तव:- मध्य प्रदेश में उपचुनाव की तारीख करीब आती जा रही है. इस बीच नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है.
 इस बीच सज्जन सिंह वर्मा ने कैलाश विजयवर्गीय पर जमकर धावा बोला है उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के सपने देख रहे थे पर भाजपा ने उठाकर कहां पटक दिया. और बंगाल सरकार के खिलाफ लगातार विवादित बयान दे रहे हैं. जैसे-जैसे दशहरा करीब आने लगता है कैलाश विजयवर्गीय का चेहरा रावण की तरह होने लगता है. मैंने इन्हें बहुत पास से देखा है आंखें छोटी छोटी और नाक पकौड़े जैसी हो जाती है.. 
 बता दे कि प्रेमचंद गुड्डू ने गुरुवार को नामांकन दाखिल किया. इस दौरान एक जनसभा आयोजित की गई थी जिसमें जीतू पटवारी और सज्जन सिंह वर्मा मौजूद थे. बता देगी कैलाश विजयवर्गीय ने कुछ दिन पूर्व ही कमलनाथ हो दिग्विजय सिंह को चुन्नू मुन्नू कहा था जिसके बाद सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि इन्हें जवाब देना ही पड़ेगा. सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि कैलाश विजयवर्गीय ने सांवेर में कमलनाथ और दिग्विजय को चुन्नू मुन्नू कहा था इसका जवाब नहीं देना ही पड़ेगा. और फिर सज्जन सिंह ने कहा कि कैलाश तुम्हारी औकात ही कितनी है अपने से बड़ों के ऊपर मुंह उठाकर रुकोगे तो थूक तुम्हारे ऊपर ही गिरेगा. खुद साड़ी और नथनी पहन के घूमा करते थे.. और राहुल गांधी को पप्पू कहते हैं.