स्मार्ट सिटी कार्यों की जाँच और हिसाब किताब के आदेश अधिकारीयों और कर्मचारियों में मचा हड़कंम !

स्मार्ट सिटी कार्यों की जाँच और हिसाब किताब के आदेश अधिकारीयों और कर्मचारियों में मचा हड़कंम !
  • स्मार्टसिटी के नाम पर आये सरकारी पैसों से अधिकारीयों ने खड़ा किया मकान।
  • लेखा जाँच समिति में दो विधायक जबलपुर के शामिल है। 

मध्यप्रदेश/जबलपुर :-विधानसभा सचिवालय से भेजे गए पत्र ने स्मार्ट सिटी जबलपुर और नगर निगम में  हड़कंम मचा दिया है.सभी अधिकारी और कर्मचारी अपनी कुर्सी बचने के लिए सरकारी कार्यों की फाइलों को व्यवस्थित करने में लगे हिये है। वहीँ पूरा रिकॉर्ड संधारित किया जा रहा है। दरअसल  शहर विकास को लेकर नगर निगम और स्मार्ट सिटी द्वारा कराए जा रहे कार्य और उसमे खर्च राशि का हिसाब-किताब देखने विधायकों की स्थानीय निकाय एवं पंचायती राज लेखा समिति 25 जुलाई को शहर पहुंच रही है। जो जिला,जनपद पंचायतों के अलावा जबलपुर नगर निगम और स्मार्ट सिटी द्वारा कराए जा रहे कार्यो की समीक्षा करेगी और हिसाब-किताब देखेगी।

इसमें बतौर सभापति पाटन विधानसभा क्षेत्र के विधायक अजय विश्नोई और उत्तर मध्य विधानसभा के विधायक विनय सक्सेना समिति सदस्य है.देखा ये जायेगा  की जबलपुर को स्मार्ट सिटी बनाने के नाम पर सरकारी पैसों से किसने कार्य करवाया है या अपनी जेब गर्म की है।