भोपाल के बाद अब ग्वालियर में भी होगा सब कुछ लॉक, इन बड़े शहरों में 24 घंटे में 4000 से ज्यादा नए मामले सामने

भोपाल के बाद अब ग्वालियर में भी होगा सब कुछ लॉक, इन बड़े शहरों में 24 घंटे में 4000 से ज्यादा नए मामले सामने

भोपाल के बाद अब ग्वालियर भी होगा लॉक, इन बड़े शहरों में 24 घंटे में 4000 से ज्यादा नए मामले सामने

 मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. भोपाल को सोमवार से 19 अप्रैल तक लॉक किया गया है इस दौरान कुल जरूरी चीजें चालू रहेंगी.

अप्रैल सुबह तक कोरोना कर्फ्यू, जानें किसे मिलेगी राहत और कहां रहेगी पाबंदी :-

 प्रदेश में बीते 24 घंटे में 6 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। भोपाल में ये आंकड़ा 824 पहुंच गया है। इसके बाद सरकार ने भोपाल में सोमवार रात 9 बजे से 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगा दिया है। इसके तहत कुछ रियायतें भी दी जाएंगी। आदेश में कहा गया है कि किराना दुकानों से होम डिलिवरी की जा सकेगी। सब्जी और दूध की दुकानें खुली रहेंगी। ठेले से भी सब्जी-फलों की बिक्री की जा सकेगी। बैंक और पेट्रोल पंप भी खुले रहेंगे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री और भोपाल से विधायक विश्वास सारंग ने जानकारी दी कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप ने भोपाल को पूरी तरह लॉक करने का सुझाव दिया था, पर कुछ रियायतें दी जाएंगी।

भोपाल में हुई कोरोना क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में ये फैसला किया गया। दूसरे फैसले में प्रदेश के स्वास्थ्य आयुक्त को बदल दिया गया है। संजय गोयल का तबादला कर दिया गया है। उनकी जगह आकाश त्रिपाठी को स्वास्थ्य आयुक्त की जिम्मेदारी दे दी गई है। त्रिपाठी अब एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी के साथ स्वास्थ सेवाओं की जिम्मेदारी भी संभालेंगे। संजय गोयल को मंत्रालय में सचिव बनाया गया है।

कर्फ्यू में इन चीजों की रहेगी इजाजत..

किराना दुकानों से होम डिलीवरी

दूध, सब्जी और फलों की दुकानें

पेट्रोल पंप, बैंक, ATM, गैस एजेंसी

अस्पताल और मेडिकल स्टोर्स

मेडिकल स्टाफ, फैक्ट्री मजदूर

वैक्सीन लगवाने के लिए निकले लोग

परीक्षा केंद्र आने-जाने वाले स्टूडेंट्स

बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट आने-जाने वाले यात्री

खेती के काम से आने-जाने वाले किसान

होम सर्विस के लिए इलेक्ट्रीशियन, प्लंबर, कारपेंटर

कंस्ट्रक्शन एक्टिविटीज (अगर मजदूर साइट पर रहते हैं तो)

 लॉकडाउन के साथ ग्वालियर में भी दी जाएंगी रियायतें :-

ग्वालियर में 15 अप्रैल की सुबह 6 बजे से 22 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान कुछ चीजों में रियायतें दी गई हैं.

राज्य में मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही संसाधन खत्म होते जा रहे हैं। इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में श्मशान घाटों पर अंतिम संस्कार के लिए भी इंतजार करना पड़ रहा है। चिताएं ठंडी होने से पहले ही दूसरे शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है।

 

इन 4 बडे़ शहरों में 24 घंटे में कोरोना के 4,136 नए केस आए हैं और 21 लोगों की मौतें हुई हैं। इंदौर में सबसे ज्यादा 1,552 संक्रमित मिले हैं और 6 मौतें हुई हैं। भोपाल में 1,456 नए केस और 5 मौत हुई हैं। ग्वालियर में 576 संक्रमित मिले जबकि 6 लोगों की जान गई। जबलपुर में 552 नए मरीज मिले और 4 की मौत हो गई। ग्वालियर में संक्रमण दर सबसे ज्यादा 33% और भोपाल में 28% है। पूरे राज्य का आंकड़ा देखें तो सोमवार को 8998 लोग संक्रमित पाए गए। पॉजिटिविटी रेट भी बढ़कर 19% हो गया है।

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे