दमोह जीत एक इशारा, जनता मारेगी तमाचा, लिया 15 साल का हिसाब:- कमलनाथ

दमोह जीत एक इशारा, जनता मारेगी तमाचा, लिया 15 साल का हिसाब:- कमलनाथ

दमोह जीत एक इशारा, जनता मारेगी तमाचा, लिया 15 साल का हिसाब:- कमलनाथ

 

 

 मध्य प्रदेश के दमोह सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस को भारी वोटों से जीत मिली जिसके बाद भाजपा प्रत्याशी राहुल लोधी ने पूर्व मंत्री जयंत मलैया पर हार का आरोप लगाया उन्होंने कहा कि जयंत मलैया की वजह से ही हम दमोह हार गए.

 दमोह में हुई भारी जीत को लेकर कांग्रेस के पीसीसी चीफ और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा और दमोह उपचुनाव में मिली जीत को उन्होंने जनता की जीत बताया. उन्होंने कहा कि मैं 'दमोह की जनता के लिए धन्यवाद देता हूं, क्योंकि दमोह की जनता ने यह संदेश देकर इतिहास रचा है कि घाटे और सौदेबाजी की राजनीति नहीं चेलगी. यह चुनाव तो एक शुरूआत है..यह एक इशारा है. अब तो इन लोगों को तमाचा मारेगी जनता. क्योंकि प्रदेश में किसान परेशान हैं..व्यापारी परेशान हैं.'

हार के बाद राहुल लोधी द्वारा पूर्व मंत्री जयंत मलैया पर भितरघात के आरोप लगाए हैं. इस पर कमलनाथ ने कहा कि कोई भितरघात नहीं किया गया..जनता ने 15 साल का हिसाब लिया है. जहां तक भितरघात की बात है तो अगर जयंत मलैया 17 हजार वोट से कांग्रेस के उम्मीदवार को जिता सकता हैं तो उन्हें मुख्यमंत्री बना देना चाहिए.

 

 वहीं पश्चिम बंगाल चुनाव में टीएमसी की जीत पर कमलनाथ ने खुशी व्यक्त की है. कहा कि अब पूरे देश में खेला होबे.

 

राहुल लोधी की हार पर भाजपा जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी का बड़ा बयान:-

 

रविवार को दमोह सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे घोषित किए गए जिसमें कांग्रेस के उम्मीदवार अजय टंडन को भारी मतों से जीत हासिल हुई। अजय टंडन ने बीजेपी के राहुल लोधी को 17089 मतों से पराजित किया। वहीं, भाजपा के उम्मीदवार राहुल लोधी ने इस हार का जिम्मेदार भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री जयंत मलैया को ठहराया। उन्होंने कहा कि मलैया परिवार ने उन्हें चुनाव हरवा दिया।

 

राहुल लोधी द्वारा लगाए गए इन आरोपों के बाद भाजपा जिला अध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी का भी बड़ा बयान सामने आया। वो भी इस विषय में गोलमोल जवाब देते नजर आए। हालांकि उन्होंने स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि संगठन जो निर्देश देगा उसके हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।

 

प्रीतम सिंह लोधी ने हार स्वीकार करते हुए कहा कि यह अंदेशा नहीं था कि भाजपा की इस तरह से हार होगी। जो गलतियां हुई है, उनकी समीक्षा की जाएगी। समीक्षा के बाद आगामी विधानसभा चुनाव में उन कमियों को दूर करके भाजपा को जिताने का संकल्प लिया जाएगा।

 

उन्होंने कहा कि उनको पता था कि शहर कमजोर है, लेकिन ग्रामीण अंचलों से जरूर उनको अच्छी लीड मिलेगी। लेकिन वैसा भी नहीं हो सका। उन्होंने कहा कि संगठनात्मक कमियों के चलते इस चुनाव में हार मिली हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश संगठन जो निर्देश देगा उस लिहाज से आगामी दिनों में कार्रवाई की जाएगी

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे