सभी खबरें

वायरल ऑडियो पर दिग्गी ने तोड़ी चुप्पी, कहा "यह कोई लालच लोग नहीं मैंने तो सिर्फ…………" 

वायरल ऑडियो पर दिग्गी ने तोड़ी चुप्पी, कहा “यह कोई लालच लोग नहीं मैंने तो सिर्फ…………” 

 सपा प्रत्याशी के साथ मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का ऑडियो वायरल हुआ है जिसके बाद अब वह मीडिया के सामने आए हैं और उन्होंने सफाई दी है.
 दिग्विजय सिंह ने वायरल ऑडियो को लेकर कहा कि
हां, मैंने कहा है और स्वीकार करता हूं, ये कोई लालच-लोभ नहीं है। कार्यकर्ता यदि निर्दलीय फॉर्म भरता है तो ​मेरी ज़िम्मेदारी है​ कि मैं उससे प्रार्थना करूं कि आप नाम वापस ले लो
. उसकी शिकायत थी कि मेरी कोई सुनता नहीं है, मुझे वार्ड का चुनाव लडना है, मैंने कहा नगर निगम चुनाव आएंगे तो लड़ाएंगे

 क्या है पूरा मामला:

मध्यप्रदेश में खरीद-फरोख्त की राजनीति लगातार जारी है इसी बीच आज दिग्विजय सिंह का ऑडियो वायरल हुआ है जिसमें वह सपा प्रत्याशी से खरीद-फरोख्त की बात कर रहे हैं. खुद सपा प्रत्याशी रोशन पर जाने इस ऑडियो की पुष्टि की है.
 यह जो ऑडियो वायरल हुआ है उसमें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सपा प्रत्याशी से अपना नाम वापस लेने की बात कर रहे हैं. दिग्विजय सिंह ने कहा तुम्हें पार्षदी के लिए चुनाव लड़ा देंगे अभी तुम नाम वापस ले लो. 
 सपा प्रत्याशी ने कहा कि उनके पास पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का फोन आया था फोन करते ही उन्होंने कहा कि तुम चुनाव क्यों लड़ रहे हो चुनाव लड़ना तो तुम्हें आता ही नहीं… आपको पता है कि भाजपा और कांग्रेस किस स्थिति में चुनाव लड़ रही है
 जिस पर कांग्रेस प्रत्याशी ने कहा था कि चुनाव लड़ने का सभी को अधिकार है और हम पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ रहे हैं.. 
 दिग्विजय सिंह ने कहा कि तुम चुनाव क्यों लड़ रहे हो भाजपा को जिताने के लिए जिस पर सपा प्रत्याशी ने कहा कि हम भाजपा को जिताने के लिए क्यों चुनाव लड़ेंगे..? 
 दिग्विजय सिंह बार बार पार्षद के टिकट का लालच दे रहे थे. 

 इस पूरे मामले पर अब भाजपा कांग्रेस पर हमलावर हुई है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि जो हम पर आरोप लगाते थे उनकी आरोप प्रमाणित होते नजर आ रहे हैं

 वह इस मामले पर कांग्रेस ने सफाई देते हुए कहा कि कम से कम हम विधायक तो नहीं खरीद रहे किसी को नाम वापस लेने के लिए कहना असभ्य आचरण नहीं है.. 
 अभी आने वाले समय में यह देखना बेहद दिलचस्प होगा कि मध्य प्रदेश की राजनीति में और क्या-क्या होता है उपचुनाव से पहले कितने नेता दल बदल करते हैं और कितने नेताओं को पार्टी खरीद-फरोख्त के लुभावने देती है..

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button