नरेंद्र सिंह तोमर के संसदीय क्षेत्र में खाद का गहराता संकट, किसान परेशान, प्रदेश के कृषि मंत्री रैंप वॉक में मस्त 

नरेंद्र सिंह तोमर के संसदीय क्षेत्र में खाद का गहराता संकट, किसान परेशान, प्रदेश के कृषि मंत्री रैंप वॉक में मस्त 

नरेंद्र सिंह तोमर के संसदीय क्षेत्र में खाद का गहराता संकट, किसान परेशान, प्रदेश के कृषि मंत्री रैंप वॉक में मस्त 

 

मुरैना/गरिमा श्रीवास्तव :- केंद्रीय कृषि मंत्री के गृह क्षेत्र में किसानों के ऊपर संकट गहराता जा रहा है.

रबी फसल की बोहनी शुरू हो चुकी है और किसान खाद के लिए परेशान हैं। किल्लत से त्रस्त आए किसानों ने मुरैना में सोमवार को खाद लेकर आए ट्रक को लूटने का प्रयास किया। स्थिति को बमुश्किल संभाला गया।

 

रबी की फसल के लिए खाद की पर्याप्त उपलब्धता काे लेकर सरकार के दावाें की कलई खुलने लगी है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के संसदीय क्षेत्र मुरैना में ही खाद संकट विकराल होता जा रहा है। सोमवार को मुरैना जिले के सबलगढ़ में खाद को लेकर किसानों का धैर्य जवाब दे गया और किसानाें ने ट्रक में भरी खाद काे लूटना शुरू कर दिया।

किसान परेशान है, सरकार द्वारा उनकी उस तरह से मदद नहीं की जा रही है जिस तरह से वाक़ई में वह उम्मीद करते हैं.अब इस मुद्दे पर विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है.

खाद का वितरण हाेना था। बड़ी संख्या में किसान खाद केंद्र पहुंचे थे। सुबह करीब 11 बजे खाद का ट्रक आया। इसके बाद किसानों से कहा गया कि पहले खाद उतरेगी उसके बाद बांटी जाएगी। इतना सुनकर किसान भड़क गए और ट्रक में भरी खाद काे लूटना शुरू कर दिया।

जीतू पटवारी ने कहा कि मप्र के बयानवीर CM और BJP MP के हवा-हवाई कृषि मंत्री Kamal Patelके नेतृत्व में "किसान कल्याण" कैसे हो रहा है, इसका नमूना अब "खाद-संकट" में जगह-जगह दिखाई दे रहा है!

नरेंद्र मोदी जी,

आय तो दुगनी हुई नहीं, किसानों के संकट जरूर चार गुना बढ़ गए हैं!

गौरतलब है कि खाद की किल्लत के चलते कालाबाज़ारी भी हो रही है

किसान परेशान है वह लगातार अपनी मांग उठा रहे हैं पर सरकार कि तरफ से उनकी सुनवाई भी नहीं हो रही.