भाजपा रखेगी उपाध्यक्ष पद! सरकार के मंत्रियों के बड़े बयान, हलचल तेज़

भाजपा रखेगी उपाध्यक्ष पद! सरकार के मंत्रियों के बड़े बयान, हलचल तेज़

मध्यप्रदेश/भोपाल - विधानसभा अध्यक्ष के निर्विरोध निर्वाचन के बाद अब उपाध्यक्ष के चुनाव को लेकर सियासी बवाल मचा हुआ हैं। बीजेपी के वरिष्ठ विधायक गिरीश गौतम को मध्यप्रदेश विधानसभा का अध्यक्ष निर्विरोध चुना गया हैं। अब विधानसभा उपाध्यक्ष की बारी है, ये पद किसके खाते में जाएगा इसको लेकर प्रदेश में सियासी हलचल तेज़ हो गई हैं। सत्ताधारी भाजपा और विपक्ष के नेताओं के बीच इसको लेकर बयानबाज़ी का दौर भी तेज़ हो गया हैं। 
हालांकि भाजपा का कहना है अध्यक्ष के बाद अब उपाध्यक्ष भी उनका ही रहेगा। इसके पीछे बीजेपी का तर्क है कि यह परंपरा कांग्रेस ने शुरू की है और ऐसे में अब बीजेपी सिर्फ इस परंपरा का पालन करेगी। सरकार के मंत्रियों की मानें तो कांग्रेस ने इस परंपरा को शुरू किया है, उसे अब पूरा बीजेपी करेगी। 

कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग ने कहा जब कमलनाथ सरकार थी, उस दौरान उपाध्यक्ष पद भी विपक्ष को नहीं दिया गया। कमलनाथ सरकार के दौरान अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद दोनों कांग्रेस ने अपने पास रखे। हम भी अब यही करेंगे। भाजपा का ही उपाध्यक्ष होगा। जबकि गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि अपने कार्यकाल के दौरान तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने उपाध्यक्ष पद को अपने पास रखकर वर्षों से चली आ रही परंपरा को तोड़ा था। आज हम उन्हीं के बताए रास्ते पर चल रहे हैं। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बीजेपी की परंपरा रही है कि यहां संगठन से विचार-विमर्श कर कार्य किया जाता हैं। अन्य पार्टियों की तरह किसी एक के हाथ में निर्णय नहीं सौंपी जाती हैं।

इन मंत्रियों के बयान से कही न कही ये साफ़ हो गया है कि अध्यक्ष पद के बाद अब भाजपा उपाध्यक्ष पद भी अपने ही पास रखेगी। बहरहाल आगे क्या होता है ये देखना दिलचस्प हो गया हैं।