क्या होगा युवा कांग्रेस का भविष्य ? उपचुनाव वाली सीटों पर हुई कांग्रेस की  नियुक्ति 

क्या होगा युवा कांग्रेस का भविष्य ? उपचुनाव वाली सीटों पर हुई कांग्रेस की  नियुक्ति 

मध्यप्रदेश में इलेक्शन की रफ़्तार अब तेज होते दिख रही  है , विधानसभा और लोकसभा सीट के लिए जंग जारी है | हाल ही मे हुए दमोह में   उपचुनाव  में कांग्रेस ने जीत हासिल की थी जिसके बाद कांग्रस पार्टी जोरो शोरों से अपनी तय्यारियों में लग गयी है | बता दे की mp की 3 विधानसभा सीटों और एक लोकसभा सीट पर उप चुनाव (By Elections) होना है, और कांग्रेस पार्टी ने उपचुनाव वाली 3 विधानसभा सीटों पर प्रभारी नियुक्त कर दिए हैं. इन तीन में से दो सीट पर पहले भी कांग्रेस का ही कब्जा था | .

कांग्रेस के कब्जे वाली सीट जोबट पर विधायक रवि जोशी को प्रभारी बनाया गया है. पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक बृजेंद्र सिंह राठौर के निधन के बाद खाली हुई पृथ्वीपुर सीट को जीतने के लिए कांग्रेस ने विधायक प्रवीण पाठक और मनोज चावला को प्रभारी बनाया है, वहीँ  प्रभारी नियुक्त करने पर बीजेपी के प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल ने कांग्रेस पार्टी पर बयान दिया की कांग्रेस पार्टी पर अब भरोसे का संकट खड़ा हो गया है  जो नेता प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में हैं उन्हें पार्टी से किनारे किया जा रहा है | 

वहीं  पीसीसी चीफ कमलनाथ ने उपचुनाव वाली सीटों पर युवा विधायकों को जिम्मेदारी देते हुए संकेत दिया है के युवा ही कांग्रेस का भविष्य हैं , हालांकि पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का कहना है पार्टी की कोशिश है कि 2023 के चुनाव से पहले युवा ब्रिगेड को आगे लाया जाए और इसी कारण से उपचुनाव वाली सीटों पर सीनियर लीडर्स के बजाय युवाओं को मौका दिया जा रहा है | सीनियर लीडर्स को दूर रखने के लिए भी अब सवाल उठने लगे हैं |  अब देखना ये दिलचस्प होगा की 4 सीटो पर युवाओ का कब्ज़ा होता है या नहीं |