भोपाल : निजी अस्पतालों में रेमडिसिविर इंजेक्शन की भारी किल्लत, यहां वहां भटक रहें परिजन, सरकार के दावे फैल...

भोपाल : निजी अस्पतालों में रेमडिसिविर इंजेक्शन की भारी किल्लत, यहां वहां भटक रहें परिजन, सरकार के दावे फैल...

मध्यप्रदेश/भोपाल - मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना से लड़ने वाले रेमडिसिविर इंजेक्शन (Remdesivir injection) की भारी किल्लत देखी जा रहीं हैं। शहर के निजी अस्पतालों में रेमडिसिविर इंजेक्शन की सप्लाई नहीं हो रही हैं। डिमांड करने के बाद भी 2 से 3 दिन तक इंजेक्शन नहीं मिल रहा। ऐसी स्थिति में मरीजों की जान पर बन रही हैं। 

यही कारण है कि अब डॉक्टर मरीजों के अटेंडेट्स से ही इंजेक्शन लाने के लिए कह रहे हैं। इन इंजेक्शन के लिए अटेंडेट्स को ही यहां वहां भटकना पड़ रहा है बावजूद इसके इंजेक्शन नहीं मिल रहे हैं। यदि मिल भी रहे है तो ब्लैक की बात सामने आ रहीं हैं। 

हालांकि सरकार लगातार दावा कर रही है कि इंजेक्शन की पर्याप्त सप्लाई की जाएगी। लेकिन शहर के निजी अस्पतालों में इसकी सप्लाई नहीं हो रही हैं। 

वहीं, इन सबके बीच हैरान करने वाली बात ये है कि भोपाल में कोरोना मरीज़ों की मौत का आंकड़ा भी थमने का नाम नही ले रहा हैं। 3 मई को 123 लोगों की कोरोना से मौत हुई। जानकारी के मुताबिक भोपाल के भदभदा विश्राम घाट में 64 और सुभाष नगर विश्राम घाट में 55 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। जबकि झदा कब्रिस्तान में 04 शवों को दफनाया गया। 

बोल के लब आज़ाद हैं तेरे