फल्ली नहीं टपकी किसान की किस्मत टपक गई हैं -शिवराज

फल्ली नहीं टपकी किसान की किस्मत टपक गई हैं -शिवराज

फल्ली नहीं टपकी किसान की किस्मत टपक गई हैं -शिवराज 

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान "मामा " किसानों की लड़ाई में मुस्तैदी से नज़र आ रहे हैं ,
दरअसल मध्यप्रदेश में सोयाबीन की फ़सल बर्बाद होने से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज जग़ह -जग़ह दौरा कर रहे हैं औऱ लोगों को कह रहे हैं जब तक मामा जिंदा हैं तुम्हे चिंता नहीं करना हैं ,तुम्हारे हक की लड़ाई के लिए हम खड़े हैं ,यदि कमलनाथ सरकार हमारी माँग पूरी नहीं करती हैं ,तो सरकार की ईंट से ईंट बजा देंगे|   
शिवराज ने ट्वीट किया - https://twitter.com/ChouhanShivraj/status/1173166699803078656


मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा -कमलनाथ जी, मेरे हाथ में यह सोयाबीन की फसल है, जो पूरी तरह से बर्बाद हो गई है। आपसे माँग है कि सोयाबीन का 40 हज़ार रुपया प्रति हेक्टेयर मुआवजा दीजिए। इसके अलावा कर्जमाफी और बिजली का बिल हाफ करने का अपना वादा पूरा कीजिए।

शिवराज ने क्या कहा - सोयाबीन की फसल बर्बाद हो गई , मूँग बर्बाद हो गई , यह फल्ली नहीं टपकी किसान की क़िस्मत टिपक गई हैं 
शिवराज ने कहा हमारी तीन माँगे 
(1) जो सोयाबीन की फसलें  बर्बाद हो गई,उनका 21 सितम्बर तक सर्वेक्षण(survey) किया जाएं औऱ 40 हज़ार प्रति एकड़ का मुआवज़ा दे मध्यप्रदेश सरकार 
(2) किसानों का कर्जा माफ़ करें सरकार ,सरकार ने वादा किया था  
(3) बिजली के जो बड़े- बड़े बिल आये हैं उनको माफ़ करे सरकार