बोल के लब आज़ाद हैं तेरे

पहले पत्रकार गिरफ़्तार ,लेकिन अब योगी सरकार का कहना “हम मीडिया की आवाज़ का मज़ाक नहीं उड़ा रहे हैं”

पत्रकार को सच दिखाने के लिए मिली योगी सरकार से सज़ा पिछले महीने मिड-डे मील में रोटी और नमक परोसे जाने वाले प्राथमिक स्कूल के छात्रों का

हिन्दी पत्रकारिता की हालत इन दिनों बहुत शर्मनाक है.”आज डरी-डरी-सी है.”-रवीश कुमार

रेमॉन मैगसेसे अवॉर्ड से सम्मानित NDTV के मैनेजिंग एडिटर रवीश कुमार ने फिलिपिंस की राजधानी मनाली में संबोधन किया मनीला: मशूहर पत्रकार ज