बोल के लब आज़ाद हैं तेरे

MP - वचनपत्र में किए 1000 रुपए पेंशन के वादे को कब पूरा करेगी कमलनाथ सरकार

800 का सिलेंडर और मात्र 600 रुपए पेंशन। ऐसे में कैसे जलेंगे घरों के चूल्हे

क्या सिर्फ "पाकिस्तान जिंदाबाद" कहने से कोई राजद्रोही हो जाता है ? अगर आप हाँ कहते हैं तो ये जरूर पढ़िए

आज के समय में आप सबको बताना यह अतिआवश्यक हो गया है कि अभिव्यक्ति की आजादी और राजद्रोह क्या है। क्योकि आज के समय में अभिव्यक्ति की आजाद

Computer Baba : कैसे नामदेव दास त्यागी से बन गए कंप्यूटर बाबा, साम-दाम-दंड-भेद सभी में निपुण फिर भी बाबा

बता दें बाबा के पास एक 27 लाख की घड़ी, 14 किलो सोना, ऑडी, बीएमडब्‍ल्‍यू सब है

अतिथि विद्वान् पार्ट-2 की तैयारी में कमलनाथ सरकार, पढ़िए ये विशेष रिपोर्ट

पुरानों को सैलरी दे नहीं पा रहे नयों को भर्ती करने की तैयारी

परम्परागत कृषि विकास योजना : कृषि विभाग के अफसर डकार गये 500 करोड़, और सरकार सोती रही

यह घोटाला तकरीबन 4100 करोड़ का हो सकता था। यानी की किसानो की किस्मत और हक को इन अधिकारियों के जूते तले रौंद दिया जाता।

MP प्राथमिक शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी की शिक्षा की "ऑल इज वेल" की थ्योरी को धता बता रहे हैं ये आंकड़े

मध्यप्रदेश की राज्यों में रैंकिंग 1 स्थान गिरकर 15 वें स्थान पर पहुंच गई है, कटनी जिले का एक विद्यालय पिछले 6 वर्षों से बिना इमारत के चल र

Outsource Employee : बिजली विभाग के आउटसोर्स कर्मचारियों को कब नियमित करेगी कमलनाथ सरकार, या इस वचन को भी भूल गई है कांग्रेस

वचन-पत्र में किया था वादा उर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह के तरफ से नहीं मिला है कोई आस्वासन कम सैलरी पर काम करने को मजबूर कर्मचारी DEO से क

Jabalpur : आठ सालों से अधूरा पड़ा है स्कूल भवन का निर्माण, 2012 में ही आवंटित हुई थी राशि

सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत यह काम वर्ष 2012-13 में शुरु किया गया था यह भवन अब तक पूरा क्यों नहीं हुआ इसका जवाब न तो सरपंच के पास है न ठेकेद

Bhopal/ आपबीती : कंडम हालत में भी रोड पर दौड़ रही हैं BCCL की लाल बसें, बस और झूले में अंतर करना मुश्किल

कभी-कभी ब्रेकर पर डर लगता है कि कहीं आधी बस टूटकर पीछे ही न छूट जाए। बसों में न तो कोई CCTV और नाही GPS . यहाँ तक की आये दिन ये खराब होती रहती हैं

Bhopal : मध्यप्रदेश को मदिरा प्रदेश बनाने की तैयारी शुरू, खुलेंगी शराब की उप दुकाने

एक तरफ सरकारें नशामुक्ति और नशाबंदी को लेकर योजनायें चलाती हैं तो वहीँ दूसरी ओर शराब की धड़ाधड़ नई दुकाने खोली जायेंगी। अब इन दुकानो के

भाजपा सांसद गिरिराज सिंह ने फिर की सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश, पार्टी ने दफ्तर बुलाया

हर बार जब भी सिंह जि का मुंह खुलता है ऊलूल जुलूल ही बोलते नज़र आते हैं। इससे पहले भी उन्हें भाजपा दफ्तर से चेतावनी मिल चुकी है। पर शायद अ

अहमदाबाद में "झुग्गियों" के सामने दीवार चुनावने वाली घटना को "RSS" की विचारधारा से जोड़ कर देख रहे हैं "द लोकनीति" के संपादक आदित्य सिंह

अहमदाबाद में झुग्गियों के सामने दीवार चुनावने वाली घटना को RSS की विचारधारा से जोड़ कर देख रहे हैं द लोकनीति के संपादक आदित्य सिंह