वो सलामी बल्लेबाज जो साउथ अफ्रीका दौरे पर कर सकते हैं के.एल.राहुल को REPLACE

वो सलामी बल्लेबाज जो साउथ अफ्रीका दौरे पर कर सकते हैं के.एल.राहुल को REPLACE

भारतीय टेस्ट टीम इस समय नंबर एक पायदान पर कब्जा है |

 

 

लेकिन उसके सलामी बल्लेबाजों की जोड़ी अभी भी दमदार नहीं है |

मुख्य बातें

  • टेस्ट टीम में भी वनडे क्रिकेट के नंबर चार की तरह ये गलें की फांस ना बन जाए।
  • जब शिखर धवन फ्लॉप हुए थे और उनकी जगह के. एल. राहुल को बतौर सलामी बल्लेबाज लाल गेंद के खेल में मौका दिया गया। 
  • के. एल. राहुल का बल्ला साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और उसके बाद वेस्टइंडीज दौरे पर भी शांत ही रहा है।

नई दिल्ली : जी हाँ, भारतीय टेस्ट टीम इस समय नंबर एक पायदान पर काबिज है लेकिन उसके सलामी बल्लेबाजों की जोड़ी अभी भी दमदार नहीं है। इसका सिलसिला शुरू हुआ था पिछले साल 2018 साउथ अफ्रीका दौरे से जब शिखर धवन फ्लॉप हुए थे और उनकी जगह के. एल. राहुल को बतौर सलामी बल्लेबाज लाल गेंद के खेल में मौका दिया गया। ऐसे में राहुल मिले मौकें को दोनों हाथ से भुना नहीं पा रहे हैं और उनकी बल्लेबाजी टीम इंडिया के लिए आगे चलकर एक बड़ा सरदर्द बन सकती है।

टीम इंडिया वेस्टइंडीज में खेली गई दो टेस्ट मैचों की सीरीज में सूपड़ा साफ़ करके जीत के जश्न में डूबी हुई हैं लेकिन एक समस्या दिन प्रति दिन बढ़ी जा रही है जो खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। ऐसे में समय रहते अगर भारतीय टीम मैनेजमेंट ने हल नहीं निकाला तो कही टेस्ट टीम में भी वनडे क्रिकेट के नंबर चार की तरह ये गलें की फांस ना बन जाए।

के. एल. राहुल का प्रदर्शन

के. एल. राहुल का बल्ला साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और उसके बाद वेस्टइंडीज दौरे पर भी शांत ही रहा है। उन्होंने पिछले एक साल में 15 टेस्ट मैच खेलें हैं। जिसमें उनके नाम 22.23 की सुस्त औसत से सिर्फ 573 रन दर्ज हैं। इस दौरान उन्होंने सिर्फ एक 149 रनों की शतकीय पारी इंग्लैंड में खेली थी। इसके अलावा राहुल लगतार इनस्विंग गेंदों पर विफल होते आ रहे हैं।

पृथ्वी शॉ

इसी बीच पृथ्वी शॉ ने टीम इंडिया के नए सलामी बल्लेबाज के रूप में शतक के साथ शानदार आगाज किया मगर डोपिंग के कारण वो 6 महीने का बैन झेल रहे हैं। जो कि नवंबर में खत्म होगा। ऐसे में साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय टीम को नए सलामी बल्लेबाज की खोज करनी होगी, जिसमें ये तीन खिलाड़ी सबसे आगे चल रहे हैं और उन्हें मौका मिल सकता है।

 

रोहित शर्मा

टेस्ट क्रिकेट में रोहित शर्मा से वनडे क्रिकेट के ‘हिटमैन’ बनने वाले इस बल्लेबाज को टेस्ट क्रिकेट में कुछ ख़ास सफलता हाथ नहीं लगी है।
दरसल इसका प्रमुख कारण इनका टेस्ट क्रिकेट में नंबर पांच या छह पर बल्लेबाजी करना और लाल गेंद का अधिक स्विंग होना माना जा सकता हैं । हालाँकि रोहित शर्मा का टेस्ट औसत राहुल से बेहतर है।

 

 

हिटमैन’ रोहित शर्मा ने अब तक टेस्ट क्रिकेट में 27 मैच की 47 पारियां खेली है। जिसमें उन्होंने 39.62 के औसत से 1585 रन बनाए है। जबकि राहुल का टेस्ट औसत सिर्फ 34 का है। रोहित ने 10 अर्द्धशतक और 3 शतक भी मारे हैं जबकि टेस्ट क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ स्कोर 177 रनों का है। ऐसे में एक बार टीम मैनेजमेंट रोहित शर्मा को  टेस्ट क्रिकेट में ओपनिंग करवाकर देख सकता है जो कि फायदे का सौदा साबित हो सकता है।

अभिमन्यु ईश्वरन 

हाल ही में अपने प्रदर्शन के दमपर बंगाल टीम के कप्तान बनाए गए अभिमन्यु ईश्वरन में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। अभिमन्यु ने फर्स्ट क्लास मैचों में भी ओपनिंग करते हैं। ऐसे में 50 मैचों की 88 पारियां खेली है। जिसमे इस युवा खिलाड़ी ने 48.65 की औसत से 3892 रन बनाए है। जिसमें 17 अर्द्धशतक और 12 शतक भी लगाए हैं। जबकि सर्वश्रेष्ठ स्कोर 233 रनों का है। ऐसे में चयनकर्ता साउथ अफ्रीका के खिलाफ घरेलु सरजमीं पर इस युवा बल्लेबाज को भी आजमा सकते हैं।

 

 

शुभमन गिल 

गिल के फर्स्ट क्लास करियर की बात करें तो 13 मैचों में 74 की बेहतरीन औसत से उनके नाम 1348 रन दर्ज हैं। ऐसे में शानदार फॉर्म में चल रहे गिल भी चयनकर्ताओं के लिए साउथ अफ्रीका के सामने टेस्ट सीरीज में के. एल. राहुल से बेहतर विकल्प साबित हो सकते हैं।

जिसके चलते चयनकर्ताओं ने उन्हें और मेहनत करने के लिए टीम इंडिया से बाहर कर दिया है। हालाँकि गिल ने लगातार अपनी बल्लेबाजी से टीम इंडिया का दरवाजा जरूर खटखटाया है। हाल ही में उन्होंने इंडिया ए के वेस्टइंडीज ए दौरे पर खेले गये एक चार दिवसीय अनाधिकारिक मैच में ओपनिंग करते हुए शानदार दोहरा शतक जड़कर खास रिकॉर्ड अपने नाम किया था।