पाकिस्तान ने आतंकी हमलों के लिए मसूद अजहर को किया रिहा, जम्मू और राजस्थान बॉर्डर पर अलर्ट जारी

पाकिस्तान ने आतंकी हमलों के लिए मसूद अजहर को किया रिहा, जम्मू और राजस्थान बॉर्डर पर अलर्ट जारी

आतंकी हमलों के लिए जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को किया गया रिहा

  • जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से बॉर्डर पर लगातार घुसपैठ की घटनाएं बढ़ी
  • पाकिस्तान और आतंकी संगठन बड़े धमाकों की रच रहा साजिश
  • राजस्थान-जम्मू बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ और सेना अधिकारियों को अलर्ट जारी

हाल ही में भारतीय खुफिया विभाग इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) (IB)  द्वारा एक बड़ी खबर बताई जा रही है | जिसके तहत जम्मू (Jammu) और राजस्थान बॉर्डर (Rajasthan Border) पर आतंकी घुसपैठ और धमाकों को लेकर अलर्ट (Alert) जारी कर दिया गया है। इसके तहत, मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, आईबी के दो अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तान द्वारा आतंकी हमलों के लिए जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-E-Mohammad) के सरगना मसूद अजहर (Masood Azher) को रिहा कर दिया गया है। इसी के साथ पाकिस्तान ने जम्मू और राजस्थान सेक्टर में अपने अतिरिक्त सैनिक भी तैनात कर दिए हैं।

वहीं, खुफिया जानकारी की मानें तो जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म होने के बाद से ही बॉर्डर पर लगातार घुसपैठ की घटनाएं बढ़ चुकी हैं। बताया जा रहा है पाकिस्तान और आतंकी संगठन द्वारा बड़े धमाकों की साजिश रची जा रही है । आतंकी लगातार बॉर्डर पर घुसपैठ की कोशिशों में जुटे हुए हैं। इसके मद्देनजर, आईबी द्वारा राजस्थान-जम्मू बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ और सेना अधिकारियों को भी अलर्ट भेजा गया है।

 

 

बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने 6 सितंबर को कहा था कि भारत जम्मू-कश्मीर में जो कुछ कर रहा है, उसका हरसंभव जवाब पाकिस्तान देगा । भारत द्वारा अनुच्छेद 370 खत्म करके जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो अलग-अलग केंद्र शासित राज्य बनाया गया । जिसकी वजह से नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच तनाव की स्थिति बन चुकी है।

वहीं, पाकिस्तान सेना प्रमुख कमर जावेद (Kamar Javed) बाजवा द्वारा कहा गया था कि कश्मीर हमारी दुखती रग है, इसके लिए हम आखिरी गोली तक लड़ेंगे। वैसे जानकारी के लिए यह बता दें कि हाल ही में सेना और पुलिस ने 4 सितंबर को प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी व्यक्त की थी कि 21 अगस्त को लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है । दोनों आतंकियों ने कबूला था कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) (LOC) के उस पार से पाकिस्तानी फौज हमारी मदद कर रही है।

पाक फौज की मदद से ही हमें घुसपैठ और हमले की ट्रेनिंग प्राप्त हुई है । इसके अलावा, सेना के लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन (KJS Thillan) द्वारा कहा गया था कि 5 से 7 आतंकी हर रोज घुसपैठ करने की कोशिश में जुटे हुए हैं।