जानिए अब रेल्वे में TC के आलावा कौन कर सकता हैं आपकी टिकट चेक?बिना टिकट में 2000 जुर्माना

जानिए अब रेल्वे में TC के आलावा कौन कर सकता हैं आपकी टिकट चेक?बिना टिकट में 2000 जुर्माना

जानिए अब रेल्वे में TC के आलावा कौन कर सकता हैं आपकी टिकट चेक?बिना टिकट में 2000 जुर्माना

 

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे(INDIAN RAILWAYs) का सिस्टम लगातार बदल रहा है। लोग बेधड़क बिना टिकट यात्रा करते थे क्योंकि वो रेलवे की कमजोरियां जानते थे। वो टीसी पर नजर रखते थे और खुद को बचा लेते थे परंतु अब वो ऐसा नहीं कर पाएंगे क्योंकि RPF वाले भी उन्हे पकड़ सकते हैं। रेल मंत्रालय ने विशेष अभियान शुरू कर दिया है।

रेलवे बोर्ड ने सभी GMs को निर्देश दिए हैं। टिकट चेकिंग के इस मुहिम रेलवे प्रोटेक्स फोर्स (RPF) भी मदद करेगा। आपको बता दें कि बिना टिकट यात्रा करने से रेलवे को हर महीने करोड़ों का नुकसान हो रहा है। उत्तर रेलवे ने 5 हजार यात्रियों को बिना टिकट पकड़ा है। मेगा टिकट चेकिंग ड्राइव के लिए जोन्स तैयार हैं।
महंगा पड़ सकता है रेलवे को चूना लगाना
बिना टिकट यात्रा करने वालों की धड़पकड़ होगी। रेलवे बिना टिकट यात्रियों पर सख्त कार्रवाई करेगी। टिकट चेकिंग में RPF भी मदद करेगा। बिना टिकट पकड़े जाने पर दाम के साथ जुर्माना भरना पड़ेगा। बिना टिकट पकड़े जाने पर 500 रुपये से 2000 रुपये के बीच जुर्माना होगा।

रेल मंत्री ने टिकटों की कालाबाजारी पर जताई चिंता

बता दें कि पिछले दिनों रेल मंत्री ने टिकटों की कालाबाजारी पर चिंता जताते हुए कहा था कि जो काम ट्रैफिक डिपार्टमेंट को करना चाहिए वह काम RPF कर रहा है। RPF ने देशभर में अभियान चलाकर एक हजार से ज्यादा टिकट दलालों को पकड़ा है, जिनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। ट्रैफिक विभाग को अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए।

 

 

 

 

पहले से ज्यादा सुरक्षित होगा ट्रेन का सफर
रेलवे ने यात्रियों और उनके सामानों की सुरक्षा के लिए नई कमांडो फोर्स बनाई है। भारतीय रेलवे ने RPF की कमांडो बटालियन कमांडो फॉर रेलवे सिक्‍योरिटी (CORAS) की पहली बटालियन को 14 अगस्‍त को लॉन्‍च किया था। इस फोर्स को रेलवे के अहम स्‍टेशनों और फैक्‍टरी में तैनात किया जाएगा। यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे जिसका लिंक नजदीक के बड़े स्टेशन, आरपीएफ(RPF) और जीआरपी(GRP) कार्यालय, मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय और रेल मंत्री कार्यालय से होगा।