राज्यपाल लालजी टंडन ने समय पर नहीं आने पर जताया खेद, कहा – मेरी गलती नहीं, जानिए पूरा मामला

राज्यपाल लालजी टंडन ने समय पर नहीं आने पर जताया खेद, कहा – मेरी गलती नहीं, जानिए पूरा मामला

राज्यपाल लालजी टंडन अपने उद्बोधन में समय पर नहीं पहुंचने सके

मुख्य बातें

  • कार्यक्रम में देरी से आने पर राज्यपाल ने जताया खेद
  • राज्यपाल ने कहा – देरी से आने पर मेरी कोई गलती नहीं है
  • राज्यपाल लालजी टंडन ने मंच से जताई नाराजगी

राज्यपाल लालजी टंडन (Governor Lalji Tandon) अपने उद्बोधन में समय पर न पहुंचने पर असर्थ रहे, जिसके बाद उन्होंने खेद जताया और कहा कि इसमें मेरी कोई गलती नहीं थी | इसमें हमारे मित्रों का भी कोई दोष नहीं है | राज्यपाल ने कहा कि राजभवन (Rajbhawan) को जो कार्यक्रम प्राप्त हुआ था उसके मुताबिक, मुझे निर्धारित समय अनुसार 2.50 बजे निकलना था | लेकिन, में 2.30 बजे तैयार होकर बैठ गया था | तब तक कोई नहीं आया | इसी स्थिति से मेरा कार्यक्रम के बिगड़ने की शुरुआत हो गई | इस स्थिति में मैंने सोचा की मेरे जाने का कोई अर्थ नहीं है | फिर सोचा की इतने शिक्षकों (Teachers) के सम्मान करने का सवाल है | जैसे मुझे ग़लतफहमी हुई है वैसे ही उन्हें भी गलतफेहमी होगी कि वे शिक्षकों के सम्मान में शामिल नहीं होना चाह रहे हैं | आखिर में मैंने निर्णय लिया कि मुझे कार्यक्रम में जाना चाहिए |

वैसे बता दें कि राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह (State Level Teachers Honour Ceremony) कार्यक्रम  आयोजन प्रशासन अकादमी में दोपहर के 3 बजे तक होना था | जिसके लगभग 30 मिनट के बाद स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी वहां पहुंचे |करीब 4 बजे तक जब राज्यपाल कार्यक्रम में नहीं पहुंच सके तो मंच से एलान कर दिया गया कि उन्हें आकस्मिक कार्य आ गया है, जिसके चलते उन्हें आने में देरी हो जाएगी | वैसे खबरों के अनुसार, बताया जा रहा है कि समय पर उन्हें लेने कोई भी जिम्मेदार राजभवन नहीं पहुंचा था, जिसके बाद राजयपाल (Governor) ने कार्यक्रम में शिरकत करने से ही इनकार कर दिया था |

बाद में जब करीब सवा चार बजे राज्यपाल कार्यक्रम में पहुंचे तो प्रभारी मंत्री गोविन्द सिंह (Govind Singh) और स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी (Prabhuram Choudhary) ने मंच से उनसे माफ़ी मांगी | जिसके बाद राज्यपाल ने इसे संवादहीनता करार देकर मामले को समाप्त कर दिया | गौरतलव है कि राज्यपाल लालजी टंडन (Governor Lalji Tandon) को प्रोटोकॉल (Protocall) के मद्देनजर राजभवन से कार्यक्रम में लाने की जिम्मेदार स्कूल शिक्षा विभाग की थी | कार्यक्रम में मंत्री के समय पर न आने की वजह से प्रमुख सचिव राजभवन नहीं पहुंच सकी | जिसके चलते राज्यपाल ने नाराजगी जताई | लेकिन बाद में उन्हें पूरी स्थिति के बारे में समझकर मना लिया गया |